शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए वक्फ बोर्ड निरंतर प्रयासरत : डा. हनीफ कुरैशी

0
290

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 27 फरवरी। हरियाणा वक्फ बोर्ड के प्रशासक डा. हनीफ कुरैशी आईपीएस ने कहा है कि वक्फ बोर्ड शिक्षा को बढ़ावा देने की दिशा में निरंतर काम कर रहा है, जहां बोर्ड द्वारा मेवात के पुन्हाना में लाईब्रेरी व कोचिंग सेंटर स्थापित की गई है वहीं फरीदाबाद के गांव धौज में लाईब्रेरी व कोचिंग सेंटर की शुरुआत की गई है। इस सेंटर में ग्रामीण छात्र-छात्राओं को स्टाफ सलैक्शन कमीशन लेबल तक की कोचिंग दी जाएगी। उन्होंने कहा कि जल्द ही यहां टीचरों की नियुक्ति के बाद इस सेंटर को शुरु किया जाएगा और 120 बच्चे यहां कोचिंग लें सकेंगे, जिसमें 80 लडक़े व 40 लड़कियों को शिक्षा दी जाएगी। उन्होंने बताया कि गांव धौज के रहने वाले डा. शाहबुद्दीन ने अपनी 1200 वर्ग गज जमीन वक्फ बोर्ड को शिक्षा के इस्तेमाल के लिए दी है, वह यूएएस में रहते है, बोर्ड द्वारा यहां लाईब्रेरी व कोचिंग सेंटर बनाया गया है, जिसमें कुशल टीचर रखकर बच्चों की शिक्षा को बढ़ावा दिया जाएगा। बोर्ड द्वारा अगला कोचिंग सेंटर सोनीपत में स्थापित करने की योजना है। डा. कुरैशी गुरुवार को गांव धौज स्थित वक्फ बोर्ड द्वारा निर्मित की गई लाईब्रेरी व कोचिंग सेंटर का निरीक्षण करने के उपरांत पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में इस तरह के कोचिंग सेंटर व लाईब्रेरी एक बेहतर कदम है क्योंकि ऐसे अनेकों गांव है, जो आज भी शहरों से दूर है, ऐसे में इन सेंटर का सदुपयोग यहां के लोग उठा सकते है। उन्होंने कहा कि यह कोचिंग सेंटर सौ प्रतिशत टीचिंग पर नहीं बल्कि सैल्फ स्टडी पर आधारित है, जिन बच्चों को पढ़ाई के लिए उचित वातावरण नहीं मिल पाता, वह यहां आकर अच्छी तरह से पढ़ाई कर सकते है। डा. हनीफ कुरैशी ने कहा कि हरियाणा वक्फ बोर्ड की पूरे प्रदेश में करीब साढे 12 हजार प्रापर्टी है, जिसकी डिजिटल मैपिंग शुरु कर दी गई है और सॉफ्टवेयर के माध्यम से 70 प्रतिशत तक प्रापर्टी का कार्य पूरा किया जा चुका है और इस वर्ष के अंत तक सौ फीसदी कार्य पूरा कर लिया जाएगा। वक्फ बोर्ड की जमीन पर अवैध कब्जों के मामले पर डा. कुरैशी ने कहा कि पंचायती और वक्फ बोर्ड की जमीन को बेचा नहीं जा सकता, ऐसा एक मामला फरीदाबाद में आया था, जिसकी एफआईआर दर्ज करवाई गई थी। उन्होंने कहा कि वक्फ बोर्ड की कुछ जमीन पर कब्जे है या कम किराए पर चल रही है, उनके लिए सरकार ने एक ट्रिब्यूनल बनाया है, ऐसे मामले ट्रिब्यूनल को दिए जाएंगे वहीं जिन लोगों ने कम लीज पर बोर्ड की जगह ले रखी है, उन्हें नोटिस जारी कर दिए गए है और उनसे नए रेट के हिसाब से किराया लिया जाएगा। इससे पूर्व डा. हनीफ  कुरैशी का यहां आगमन पर मेवात इंजीनियरिंग कालेज के प्रोफेसर वसीम अकरम, इम्तियाज खैज, तस्सबुर आजाद, शमशेर सहित धौज गांव के ग्रामीणों ने उनका फूलों के बुक्के भेंट करके स्वागत किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here