जेसीबी की नौकरियों में झाड़सेंतली को भी मिले हिस्सा : जगन डागर पूर्व पार्षद

0
361
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : कर्मचारियों की छंटनी के विरोध में जेसीबी के गेट पर चल रही विधायक नीरज शर्मा की रामकथा में पूर्व पार्षद जगन डागर ने कहा कि जेसीबी कंपनी में स्थानीय गांव झाड़सेंतली के ग्रामीणों को नौकरियां दी जानी चाहिएं। रामकथा आंदोलन के ग्यारहवें दिन श्री डागर ने आरोप लगाया कि जेसीबी कंपनी के लिए सरकार ने झाड़सेंतली के किसानों से कौडिय़ों के भाव जमीनें खरीद ली थीं अपने बापदादा की जमीनें बेच देने वाले किसान को आज जेसीबी में चपरासी की भी नौकरी नहीं मिलती। उन्होंने कहा कि कंपनी सीएसआर का पैसा भी अब गांव झाड़सेंतली में नहीं लगाती जिसके कारण ग्रामीणों में बहुत रोष है। झाड़सेंतली के ग्रामीणों ने पंचायत कर न सिर्फ विधायक नीरज शर्मा के आंदोलन को समर्थन दिया बल्कि राष्ट्रपति को एक ज्ञापन विधायक नीरज शर्मा के माध्यम से भी भेजा। श्री डागर ने अल्टीमेटम दिया कि अगर स्थानीय युवाओं को नौकरी नहीं देगी जेसीबी कंपनी तो परिणाम अच्छे नहीं होंगे। गुरुवार को रामकथा के दौरान आंदोलन को अपना समर्थन देने श्री सिंह सभा गुरुद्वारा जवाहर कॉलोनी के पदाधिकारी भी पहुंचे आज राम कथा में बोलते हुए विधायक श्री नीरज शर्मा ने कहा कि अन्याय के खिलाफ यथा शक्ति विरोध दर्ज किए जाने की जरूरत है। उन्होंने गिलहरी की कथा सुनाते हुए कहा कि यह न सोचें की हम क्या कर लेंगे बल्कि अपनी पूरी ताकत से अन्याय का विरोध करना चाहिए।
इस अवसर पर वरिष्ठ अधिवक्ता विकास वर्मा, राम सिंह डागर, जोगिंदर पहलवान, सरदार कुलवंत सिंह प्रधान श्री सिंह सभा, गुरुद्वारा जवाहर कॉलोनी, पूरन डागर, वेदप्रकाश, धवन, प्रेम, सोनू गुप्ता, गगन दीप भाटिया, गुलशन कुमार पूर्व छात्र नेता आदि भी मौजूद थे। इस मौके पर भारतीय प्रवासी परिषद के कार्यकर्ता भी पहुंचे और विधायक नीरज शर्मा के आंदोलन को अपना समर्थन दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here