बड़े लक्ष्य को हासिल करने के लिए जीवन में अनुशासन जरूरी है : उपायुक्त यशपाल

0
219

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 27 फरवरी। उपायुक्त यशपाल ने कहा कि किसी भी बड़े लक्ष्य को हासिल करने के लिए जीवन में अनुशासन जरूरी है। विद्यार्थी जीवन में अनुशासन की सीख पहली शिक्षा होती है। अनुशासित व्यक्ति किसी भी परिस्थिति से निपटने में सक्षम होता है तथा वह समाज की भलाई के लिए भी उल्लेखनीय योगदान देता है।
उपायुक्त ने यह उद्गार वीरवार को ग्रेटर फरीदाबाद स्थित सुधा रुस्तगी दंत चिकित्सा विज्ञान एवं अनुसंधान महाविद्यालय के वार्षिक स्पोट्र्स एवं कल्चरल मीट कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि विद्यार्थियों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने बच्चों को जीवन में सफलता व सफल व्यक्ति के समाज हित में योगदान के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि यदि लक्ष्य की प्राप्ति के लिए पूरी शिद्दत से मेहनत की जाए तो सफलता भी निश्चित रूप से मिलती है। अनुशासन के साथ की गई मेहनत कभी बेकार नहीं जाती। जीवन में माता-पिता व गुरू का स्थान हमेशा सर्वोपरि रखें, क्योंकि इनके त्याग व तप का कर्ज उतारना असंभव है। अगर हम उनकी सीख को जीवन में ढाल लें तथा उनके दिखाए सद्मार्ग पर चलें तो समाज में एक सकारात्मक सोच विकसित होगी। सकारात्मक सोच से समाज व देश-प्रदेश तरक्की की ओर से अग्रसर होगा। इस अवसर पर उपायुक्त ने संस्थान में उल्लेखनीय उपलब्धि हासिल करने वाले प्रतिभावान विद्यार्थियों को पुरस्कृत भी किया।
कार्यक्रम में संस्थान के चेयरमैन धर्मवीर गुप्ता ने महाविद्यालय के विभिन्न पाठ्यक्रमों व बच्चों की विशेष उपलब्ध्यिों के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि इस कैंपस में महाविद्यालय के साथ 120 बेड का शांति देवी मेमोरियल अस्पताल भी चल रहा है, जिसमें गांवों के लोग दूर-दूर से इलाज करवाने आते हैं। इस अस्पताल में दांतों से संबंधित सभी प्रकार की बीमारियों का इलाज व आप्रेशन बहुत कम फीस पर किया जाता है। इसमें गरीब व जरूरतमंद व्यक्तियों का इलाज बिल्कुल निशुल्क किया जाता है। अस्पताल की ओर से समय-समय पर 10 किलोमीटर के दायरे में स्थित स्लम एरिया, सरकारी स्कूलों व प्राइवेट संस्थानों में दांतों के इलाज के लिए निशुल्क कैंप लगाए जाते हैं। इस संस्थान से पास आउट डाक्टर आज देश के विभिन्न हिस्सों के साथ-साथ विदेशों में भी अपनी सेवाएं दे रहे हैं। कार्यक्रम में बच्चों ने सांस्कृतिक प्रस्तुतियां भी दी। इसी प्रकार 22 फरवरी से 26 फरवरी तक स्पोट्र्स की गतिविधियां आयोजित की गई। इस अवसर पर संस्थान के सचिव दीपक गुप्ता, कोषाध्यक्ष संतोष गुप्ता, अस्पताल की एमडी डा. गरिमा गुप्ता, महाविद्यालय के प्रिंसीपल डा. सी.एम. मारिया व सीईओ डा. विशाल जुनेजा उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here