लघु सचिवालय में मनाया गया विश्व बालश्रम निषेध दिवस

37
Faridabad Aone News/ Dinesh Bhardwaj :12 जून। सेक्टर 12 स्थित लघु सचिवालय में श्रम एवं रोजगार मंत्रालय भारत सरकार द्वारा संचालित राष्ट्रीय बालश्रम परियोजना फरीदाबाद की ईकाई ने 12 जून के दिन विश्व बालश्रम निषेध दिवस मनाया, इस अवसर पर हस्ताक्षर अभियान किया गया, जिसमें शपथ ली गई कि न तो बालश्रम करवायेंगे और न ही अपने आसपास होने देंगे। इस कार्यक्रम की देखरेख राष्ट्रीय बालश्रम परियोजना फरीदाबाद की प्रोजेक्ट डायरेक्टर रूकमनी ने की और कार्यक्रम में पहला हस्ताक्षर बैंकों के  एलडीएम अलभ्य मिश्रा ने किया। बालश्रम को रोकने और जागरूकता फैलाने के लिये यह कार्यक्रम सप्ताहिक मनाया जायेगा जो कि शहर के अलग अलग क्षेत्रों में किया जायेगा। इस कार्यक्रम का शुभारंभ पूर्व संध्यां पर एडीसी जितेन्द्र दहिया ने किया।
12 जून के दिन पूरे विश्व बालश्रम निषेध दिवस मनाया जाता है, इसी कडी में श्रम एवं रोजगार मंत्रालय भारत सरकार द्वारा संचालित राष्ट्रीय बालश्रम परियोजना फरीदाबाद की ईकाई ने फरीदाबाद सेक्टर 12 स्थित लघु सचिवालय में हस्ताक्षर अभियान चलाया, लघु सचिवालय के धरातल पर  हस्ताक्षर करने के लिये एक बोर्ड रखा गया जिसपर शहर के सैंकडों लोगों ने अपने अपने हस्ताक्षर कर प्रण लिया कि भविष्य में वह कभी न तो बालश्रम करेंगे और न ही अपने आसपास होने देंगे। इस अभियान की देखरेख राष्ट्रीय बालश्रम परियोजना फरीदाबाद की प्रोजेक्ट डायरेक्टर रूकमनी ने की। कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे फरीदाबाद बैंकों के लीड डिस्टिक मैनेजर यानि कि एलडीएम अलभ्य मिश्रा ने बोर्ड पर पहला हस्ताक्षर कर अभियान की शुरूआत की।
इस दौरान एलडीएम अलभ्य मिश्रा ने कहा कि राष्ट्रीय बालश्रम परियोजना फरीदाबाद की ईकाई देशहित में काम कर रही है झुग्गी झोंपडी या कालोनियों में रहने वाले गरीब बच्चों को मुफ्त में शिक्षा देते हैं और बालश्रम को रोकने में अहम भूमिका निभाते हैं।
वहीं इस पूरे कार्यक्रम की जिल स्तर पर देखरेख कर रहीं राष्ट्रीय बालश्रम परियोजना की प्रोजेक्ट डायरेक्टर रूकमनी ने बताया कि प्रतिबर्ष फरीदाबाद में श्रम एवं रोजगार मंत्रालय भारत सरकार द्वारा संचालित राष्ट्रीय बालश्रम परियोजना की ईकाई 12 जून के दिन विश्व बालश्रम निषेध दिवस मनाती है। इस बार भी चार दिवसीय कार्यक्रम रखा गया है जिसमें पहले दिन हस्ताक्षर अभियान चलाया गया है उसके बाद शहर के अलग अलग क्षेत्रों में बालश्रम को लेकर जागरूकता फैलाने के लिये कार्य किया जायेगा। प्रोजेक्ट डायरेक्टर रूकमनी ने बताया कि 2008 में राष्ट्रीय बालश्रम परियोजना की शुरूआत की गई थी जिसके बाद से ही फरीदाबाद में इस परियोजना के तहत गरीब व बालश्रम करने वाले बच्चों को मुफ्त में शिक्षा दी जा रही है अब तक हजारों बच्चे शिक्षा गृहण करने के बाद उंचाई पर पहुंच गये हैं। यह प्रयास इस परियोजना की ओर से लगातार जारी रहेंगे।
इस मौके पर राष्ट्रीय बालश्रम परियोजना की प्रोजेक्ट डायरेक्टर रूकमनी, एलडीएम अलभ्य मिश्रा, प्रोग्राम मैनेजर शिव कुमार, वूमेन वैलफेयर अफिसर शशिबाला, सूरज, मालती, कुमोद कुमार, राखी, माया, संगीता, सुनीता, नितेश, आर्यन, अभिषेक, विवेक, राजू, अंकित और सुमन सहित र्दजनों समाजसेवी मौजूद रहे।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Themetf