सुपाइन पी.सी.एन.एल से संभव होगा कठिन किडनी स्टोन का आप्रेशन : डॉ. तनुज पॉल भाटिया

21
Faridabad Aone News/ Dinesh Bhardwaj :सर्वोदय हॉस्पिटल एवं रिसर्च सेंटर, सेक्टर-8 में उत्तराखंड निवासी 56 वर्षीय प्रेम सिंह का सुपाइन पी० सी० एन० एल० और एंडोस्कोपिक कंबाइंड इंट्रारीनल सर्जरी तकनीक से सफल आप्रेशन किया। इस तकनीक के द्वारा फरीदाबाद में यह पहला ऑपरेशन है जिसका श्रेय सर्वोदय हॉस्पिटल की आधुनिक मेडिकल मशीनों एवं कुशल एवं अनुभवी डॉक्टरी टीम को जाता है। सर्वोदय हॉस्पिटल के इंस्टीटूट ऑफ लेज़र यूरोलॉजिकल सर्जरी विभाग में डॉक्टरी टीम डॉ. तनुज पॉल भाटिया के मार्गदर्शन में बेहतरीन कार्य कर रही है।
सर्वोदय हॉस्पिटल के मूत्र रोग विभाग के वरिष्ठ विषेशज्ञ डॉ. तनुज पॉल भाटिया ने बताया कि ” प्रेम सिंह पैर में दर्द और पेट में दर्द की शिकायत को लेकर सर्वोदय हॉस्पिटल आया था जब उनकी निदान जानने के लिए एम० आर० आई० की गयी तो उसकी किडनी के नीचे मूत्र के जमाव के कारण पस मिला।  जिसका कारण प्रेम कुमार की सर्वोदय हॉस्पिटल आने से 1 महीने पहले किडनी के स्टोन की ओपन सर्जरी करानी थी जिसमें पेट के अंदर रिसाव होने के कारण मरीज के पेट में मूत्र का जमाव हो गया और वहाँ पस बन गया | मरीज के हॉस्पिटल आते ही उसके किडनी में 2 विशेष प्रकार के स्टेंट लगाए गए जिससे पस बाहर निकल जाए। परम्परागत तरीक़े से मरीज की पी० सी० एन० एल० तकनीक से किडनी के स्टोन को निकालने के लिए  मरीज को पेट के बल लिटाया जाता है जिसमे अधिक वजन के मरीजों को पेट के दबाव द्वारा फेफड़ों को नुक़सान होने का खतरा बढ़ जाता है और ऑपरेशन के दौरान बेहोश करने के बाद मरीज को हालत पर निरीक्षण रखना मुश्किल होता है।
परन्तु सुपाइन पी० सी० एन० एल० तकनीक में मरीज को सीधा लिटाकर उसके पेट में छोटा चीरा लगाकर किडनी से स्टोन को निकला जाता है। प्रेम सिंह के किडनी और मूत्रद्वार दोनों में ही स्टोन थे इसलिए उनके सुपाइन पी० सी० एन० एल० और एंडोस्कोपिक कंबाइंड इंट्रारीनल सर्जरी तकनीक से स्टोन निकालकर उसे दर्द से आराम दिया गया। ऑपरेशन के कुछ दिनों के उपरांत मरीज की हालत में सुधार होने लगा और अब वह पूरी तरह से स्वस्थ है।
सर्वोदय हॉस्पिटल के चेयरमैन डॉ. राकेश गुप्ता ने डॉ. तनुज पॉल भाटिया और उनकी टीम को सफल ऑपरेशन की बधाई देते हुए  बताया की इस तकनीक से किडनी स्टोन के जटिल ऑपरेशन भी आसानी से किये जा सकेंगे और हमें गर्व है कि फरीदाबाद में सर्वोदय हॉस्पिटल इस तकनीक को लाने वाला पहला हॉस्पिटल है। हम आगे भी मरीजों को बेहतर इलाज देने के लिए अग्रसर रहेंगे।
सर्वोदय अस्पताल : एक झलक 
सर्वोदय अस्पताल एवं रिसर्च संस्थान फरीदाबाद के बेहतरीन मेडिकल संस्थानों में से एक है जो 4.25 एकड़ में फैला होने के साथ 300 बेड,65 आई० सी० यू०, 6 ऑपरेशन थिएटर  और फ्लोर बेस्ड कैथ लैब से सुसज्जित है। यहाँ कार्डियोलॉजी, कार्डिओथोरोसिक एवं वैस्कुलर सर्जरी, कैंसर विज्ञान, न्यूरोसाइंस, मिनिमल इनवेसिव सर्जरी, गैस्ट्रोएंट्रोलॉजी एवं जी० आई० सर्जरी, ऑर्थोपेडिक्स एवं जॉइंट रिप्लेसमेंट, यूरोलॉजी एवं नेफ्रोलॉजी सुपरस्पेशलिटी का बेहतरीन ईलाज प्रदान करता है। सर्वोदय अस्पताल ने एक विशेष मंत्रा “केयर + क्योर” संस्थापित किया है जिससे अस्पताल में हर एक स्तर पर सर्वोपरि माना जाता है साथ ही सर्वोदय अस्पताल ” मुस्कान के साथ सेवा ” को भी महत्व देता है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Themetf