पुलिस आयुक्त से मिले अनंगपुर गांव के लोग

0
140

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj :
गैरकानूनी तरीके से गांव के युवकों की पिटाई करने और जबरदस्ती जमीन पर कब्जा करने के आरोपी दयालबाग चौकी ईचार्ज राजेश शर्मा,एएसआई अनिल,एचसी संदीप,पुलिसकर्मी नरेश और सूरजकुण्ड थाना एसएचओ अर्जुन राठी और अजय जैन पुत्र अभय जैन तथा अजय जैन के लडक़े के खिलाफ कारवाई की मांग को लेकर आज अनंगपुर गांव के कई लोग पुलिस आयुक्त से उनके सेक्टर-21सी स्थित कार्यालय पर मिले। पीडि़त फिरे पुत्र चंदर ने पुलिस आयुक्त को बताया मेरी एक जमीन वाका मौजा अनंंगपुर फरीदाबाद में है। जो मैने वसीका नंबर 6699 दिनांक 20-7-2015 के द्वारा खरीदी हुई है व इसका इंतकाल भी मेरे नाम दर्ज हो रखा है और इसकी कायनी भी हमारे नाम है। मेरा अपनी जमीन पर कब्जा है लेकिन आरोपी अजय जैन पुत्र अभय जैन तथा अजय जैन का लडक़ा पिछले काफी समय से मुझे तंग किए हुए है और मेरी जमीन पर पिछले काफी समय से जबरदस्ती कब्जा करने की कोशिश कर रहे है। जिसकी मैने पहले भी आपके कार्यालय व चौकी दयालबाग में शिकायत कर रखी है। दिनांक 20-9-2020 की शाम को चौकी ईचार्ज राजेश शर्मा,एएसआई अनिल,एचसी संदीप व नरेश मेरी जमीन अप आए और मेरे भतीजे विपिन पुत्र प्रकाश व राहुल पुत्र मंगत सिंह व रोहित पुत्र कंवर सिंह को जबरदस्ती उठाकर ले गए। इसके बाद चौकी में ले जाकर जहां पर अजय जैन व उसका लडक़ा पहले से ही मौजूद था ने उपरोक्त बच्चों के कपड़े उतरवाकर डड़ो से,लात घूसों से मारना शुरू कर दिया। यह सारी मार-पिटाई आरोपी अजय जैन और उसके लडक़े बेटे के कहने पर की गई। उसी समय राजेश शर्मा चौकी इचार्ज ने अजय जैन से कहा कि आप भी मारो तो अजय और उसके लडक़े दोनों ने मिलकर भी बच्चों को मारा। उसके बाद हमारे बच्चों से जबरदस्ती लिखवाया गया कि हम लोग अपनी गायों को ले जाएगें और यहां पर दोबारा नहीं आएगें। मुझे घटना का पता चला तो मैने लडक़ो का मेडिकल करवाया। पीडि़त फिरे ने बताया की सभी पुलिसकर्मियों ने जबरदस्ती,गैर कानूनी तरीके से इन बच्चों के साथ तार पिटाई की है और उन्हें जबरदस्ती अंदर बंद करके रखा गया है। मेरी जमीन पर जबरदस्ती कब्जा करवाने के लिए गैर कानूनी तरीके से यह सब किया गया। पीडि़त फिरे ने बताया कि चौकी इचार्ज राजेश शर्मा ने उससे 1 लाख रूपये की रिश्वत की भी मांग की थी जोकि मैने देने से मना कर दी थी। यही कारण है कि मेरे द्वारा दी गई दरखास्त 213-5पी11 दिनांक 5-9-2020 पर कोई कारवाई नहीं की गई। पुलिस आयुक्त ने सारी बात सुनने के बाद कहा कि किसी के साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा और साथ ही साथ उन्होनें एसीपी हेडक्वार्टर आर्दशदीप सिंह को कहा कि इस मामले की तह तक जाया जाए ताकि दूध का दूध और पानी का पानी हो सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here