30 नवम्बर को संसद मार्च करेगें किसान: श्योकंद

90

Faridabad Aone News/ Dinesh Bhardwaj :कर्जा माफी, फसल का लाभकारी मूल्य और फसल की सरकारी खरीद की गारंटी की मांग को लेकर लाखों किसान 30 नवम्बर को संसद मार्च करेंगे। अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के बेनर तले होने वाले इस संसद मार्च में हरियाणा से दस हजार किसान शामिल होंगे। यह जानकारी अखिल भारतीय किसान सभा हरियाणा के महासचिव फूल सिंह श्योकंद व प्रधान मास्टर शेर सिंह ने सेक्टर-7 स्थित सकसं के जिला कार्यालय में पलवल व फरीदाबाद जिलों की मीटिंग के बाद पत्रकारों से रूबरू होते हुए दी। पत्रकार वार्ता में किसान सभा के पलवल के जिलाध्यक्ष धर्मचंद, फरीदाबाद के जिलाध्यक्ष नवल सिंह, सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के महासचिव सुभाष लांबा, जिला प्रधान अशोक कुमार व सचिव युद्धवीर सिंह खत्री और सीटू के जिला प्रधान निरंतर पराशर, महासचिव लाल बाबू शर्मा व पलवल जिले के प्रधान श्रीपाल सिंह भाटी उपस्थित थे।
अखिल भारतीय किसान सभा हरियाणा के महासचिव फूल सिंह श्योकंद ने मीटिंग के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए भाजपा सरकार के फसलों के डेढ़ गुणा करने के दावे को आंकड़ों की बाजीगरी बताया। उन्होंने बताया कि 29 नवम्बर को हजारों वालंटियरों के चार जत्थें क्रमश: निजामुद्दीन से समीप बाले साहब गुरूद्वारे, मंजनू का टीला, आनन्द विहार व ब्रिजवासन गांव में पैदल मार्च करते हुए रामलीला मैदान जाएंगे। उन्होंने बताया कि देश के 30 नवम्बर को सभी राज्यों से लाखों की संख्या में रामलीला मैदान में जमा किसान सुबह दस बजे संसद के लिए मार्च करेंगे। उन्होंने बताया कि संसद के समक्ष पहुंच कर किसान संसद का विशेष सत्र बुलाकर किसानों की सभी समस्याओं पर विस्तार से चर्चा करने और संसद में किसानों का कर्जा माफ करने, पुन: किसान कर्जदार न हो, इसके लिए फसल की लागत का डेढ गुणा मूल्य देने और फसल की सरकारी खरीद की गारंटी देने का बिल पारित करने की मांग करेंगे।
सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के महासचिव सुभाष लांबा व सीटू के जिला प्रधान निरंतर पाराशर ने अपने अपने संगठनों की ओर से संसद मार्च ओर किसानों की मांगों का पुरजोर समर्थन किया। किसान सभा के जिला पलवल के प्रधान धर्मचंद व फरीदाबाद के प्रधान नवल सिंह ने बताया कि संसद मार्ग में दोनों जिलों से हजारों किसान शामिल होंगे।
मीटिंग में शिव प्रसाद, लाल बाबू शर्मा, रूप राम तेवतियां, राजेश शर्मा, करतार सिंह, रमेश चंद्र तेवतिया परमाल सिंह, मदन सिंह आदि मौजूद थे।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Themetf