हरियाणा सरकार ने आगामी शैक्षणिक सत्र 2018-19 से एक साथ 31 सरकारी कन्या महाविद्यालय खोलने का निर्णय लिया

59

Chandigarh Aone News/ Dinesh Bhardwaj : 9 मई- हरियाणा सरकार ने आगामी शैक्षणिक सत्र 2018-19 से एक साथ 31 सरकारी कन्या महाविद्यालय खोलने का निर्णय लिया है जो कि किसी भी राज्य के शैक्षिक इतिहास में एक बहुत बड़ी उपलब्धि है। फिलहाल इन सभी कालेजों का अन्य सरकारी महाविद्यालयों के प्रिंसिपलों को अतिरिक्त कार्यभार भी दे दिया गया है ताकि आगे की कार्रवाई समय पर होती रहे।

हरियाणा के शिक्षा मंत्री श्री राम बिलास शर्मा ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि राज्य सरकार ने लड़कियों की शिक्षा पर और अधिक बल देते हुए जुलाई में शुरू होने वाले शैक्षणिक सत्र से ही 31 राजकीय कन्या महाविद्यालय शुरू करने का निर्णय लिया है। उन्होंने बताया कि इन कन्या महाविद्यालयों में राजकीय कन्या महाविद्यालय सोनीपत, राजकीय कन्या महाविद्यालय बल्लबगढ़ (फरीदाबाद), राजकीय कन्या महाविद्यालय चामू कलां (कुरूक्षेत्र), राजकीय कन्या महाविद्यालय हरिया मंडी (चरखी दादरी), राजकीय कन्या महाविद्यालय डाटा (हिसार), राजकीय कन्या महाविद्यालय खेड़ी चोपटा (हिसार), राजकीय कन्या महाविद्यालय रिठोज (गुरूग्राम), राजकीय कन्या महाविद्यालय तरावड़ी (करनाल), राजकीय कन्या महाविद्यालय लोहारू (भिवानी), राजकीय कन्या महाविद्यालय नचोली (फरीदाबाद), राजकीय कन्या महाविद्यालय छिलरो (महेंद्रगढ़), राजकीय कन्या महाविद्यालय रानिया(सिरसा), राजकीय कन्या महाविद्यालय मोहना (फरीदाबाद), राजकीय कन्या महाविद्यालय उन्हानी (महेंद्रगढ़), राजकीय कन्या महाविद्यालय कुरूक्षेत्र, राजकीय कन्या महाविद्यालय मानेसर (गुरूग्राम), राजकीय कन्या महाविद्यालय उगालन (हिसार), राजकीय कन्या महाविद्यालय उकलाना (हिसार), राजकीय कन्या महाविद्यालय गुहला चीका (कैथल), राजकीय कन्या महाविद्यालय कालांवाली (सिरसा), राजकीय कन्या महाविद्यालय मंडकोला (पलवल), राजकीय कन्या महाविद्यालय जुंडला (करनाल), राजकीय कन्या महाविद्यालय शहजादपुर (अंबाला), राजकीय कन्या महाविद्यालय बडोली (पलवल), राजकीय कन्या महाविद्यालय बिलासपुर (यमुनानगर), राजकीय कन्या महाविद्यालय रायपुररानी (पंचकूला), राजकीय कन्या महाविद्यालय कैरू (भिवानी), राजकीय कन्या महाविद्यालय कुलाना (झज्जर), राजकीय कन्या महाविद्यालय सैक्टर-52 गुरूग्राम तथा राजकीय कन्या महाविद्यालय बावल(रेवाड़ी) शामिल है।
श्री शर्मा ने बताया कि उक्त सभी राजकीय कन्या महाविद्यालय जुलाई 2018 में शुरू होने वाले शैक्षणिक सत्र से ही शुरू किए जाएंगे। जब तक इन महाविद्यालयों का भवन तैयार नहीं हो जाता तब तक पास के ही किसी सरकारी स्कूल व अन्य संस्थाओं की खाली पड़ी बिल्डिंग में चलाया जाएगा ताकि राज्य की लड़कियों को अपनी पढ़ाई के लिए दूर-दराज के कालेजों में न जाना पड़े।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Themetf