‘क्लाउड कंप्यूटिंग देता है डाटा को सुरक्षित स्टोर करने की आजादी’

0
320

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj :17 अगस्त क्लाउड कंप्यूटिंग अवधारणाओं की समझ को बढ़ाने के उद्देश्य से जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद के  कंप्यूटर इंजीनियरिंग और कंप्यूटर एप्लीकेशन विभागों द्वारा संयुक्त रूप से ‘क्लाउड कम्प्यूटिंग’ पर एक सप्ताह का टीईक्यूआईपी प्रयोजित ऑनलाइन मूल्य वर्धित कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है।
कार्यक्रम का उद्घाटन आज आईआईटी जम्मू के निदेशक प्रो. मनोज सिंह गौड़ ने किया, जोकि उद्घाटन सत्र में मुख्य अतिथि और मुख्य वक्ता रहे। सत्र की अध्यक्षता कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने की। कार्यक्रम का समन्वयन डॉ. सपना गंभीर और डॉ. पारुल तोमर द्वारा किया जा रहा है।
कार्यक्रम की शुरुआत इंफोमेटिक्स एवं कंप्यूटिंग के डीन संकाय प्रो. कोमल कुमार भाटिया के स्वागत संबोधन से हुई। कंप्यूटर एप्लीकेशन विभाग के अध्यक्ष प्रो. मंजीत सिंह ने प्रतिभागियों के लिए पाठ्यक्रम के महत्व पर प्रकाश डाला तथा विभिन्न औद्योगिक विशेषज्ञों द्वारा पाठ्यक्रम के दौरान कवर किए जाने वाले विषयों के बारे में संक्षिप्त परिचय दिया।
प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए, प्रो. दिनेश कुमार ने दैनिक जीवन में क्लाउड कंप्यूटिंग की भूमिका के बारे में अवगत कराया। उन्होंने डाटा को सुरक्षित रूप से स्टोर करने तथा इसके रखरखाव में क्लाउड कंप्यूटिंग की भूमिका का उल्लेख किया। कुलपति ने वेबिनार के आयोजन के लिए विभाग द्वारा किए गए प्रयासों की सराहना की
अपने मुख्य भाषण में प्रो. मनोज सिंह गौड़ ने क्लाउड कंप्यूटिंग से संबंधित विभिन्न अवधारणाओं और अनुसंधान के क्षेत्र में इसके महत्व के बारे में चर्चा की तथा इस क्षेत्र में शोधकर्ताओं के लिए समस्याओं पर विचार साझा किये। उन्होंने आईटी इन्फ्रास्ट्रक्चर में क्लाउड कंप्यूटिंग को लागू करने के लिए विकसित हो रहे विभिन्न मानकों की जानकारी दी। उन्होंने प्रतिभागियों को सिमुलेशन एन्वायरमेंट की बनाये क्लाउड एनवायरमेंट पर काम करने पर बल दिया।
अंत में, डॉ. सपना गंभीर ने मुख्य अतिथि, कुलपति तथा प्रतिभागियों का धन्यवाद किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here