हडि्डयों और जोडों की बीमारियों की रोकथाम के लिए देश भर में चलेगा अभियान

0
627

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 31 जुलाई। एक समय हडि्डयों और जोडों की बीमारियां उम्रदराज लोगों की परेशानियां मानी जाती थी लेकिन बदलती जीवनशैली और तनाव के कारण इन दिनों युवक भी इन समस्याओं से ग्रस्त हो रहे है।

इंडियन आर्थोपेडिक एसोसिएशन ने इन समस्याओं के बढते प्रकोप के मद्देनजर चार अगस्त को मनाए जाने वाले नेशनल बोन एंड ज्वाइंट दिवस के सिलसिले में देशभर में अगस्त के पहले सप्ताह के दौरान जागरूकता कार्यक्रम चलाने की घोषणा की है। इस साल के मुख्य थीम है डिजेनरेटिव डिजिज में विकृतियों की रोकथाम‘‘। हडि्डयों और जोडों में विकृतियां हडि्डयों के बढ जाने, उनके आकार बदल जाने तथा जोडों के झुकाव बदल जाने के कारण होती है और इन कारणों से विकलांगता, डिप्रेशन और अन्य स्वास्थ्य समस्याएं होती है जिसके कारण मरीजों को पंगू जीवन जीना पडता है और इन समस्याओं के उपचार में मरीजों को काफी खर्च उठाना पडता है।

नई दिल्ली के मैक्स सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल के वरिष्ठ आर्थोपेडिक सर्जन तथा दिल्ली आर्थोपेडिक एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. शरद के अग्रवाल ने कहा कि इंडियन आर्थोपेडिक एसोसिएशन के साथ मिलकर दिल्ली आर्थोपेडिक एसोसिएशन उम्र के साथ होने वाली आर्थराइटिस और ओस्टियो आर्थराइटिस जैसी आर्थोपेडिक समस्याओं की रोकथाम के बारे में आम लोगों को जागरूक करने के लिए विभिन्न गतिविधियों एवं कार्यक्रमों का आयोजन कर रहा है। उपचार से कहीं बेहतर है बचाव और इसी को ध्यान में रखकर हम लोगों को इस बात के लिए प्रेरित कर रहे हैं कि वे जीवन शैली में बदलाव लाकर खान –पान में सुधार लाकर तथा नियमित व्यायाम करके जोडों एवं हडि्डयों की समस्याओं की रोकथाम करें तथा जोडों एवं हडि्डयों में विकृतियां नहीं आने दें।

दिल्ली ऑर्थोपेडिक एसोसिएशन के सचिव एवं नई दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में स्पोर्ट्स इंजरी सेंटर के प्रोफेसर डॉ. हितेश ने कहा “भारतीय लोगें के औसत जीवन काल में वृद्धि हुई है जो इस समय 68.8 वर्ष है और ऐसे में उम्र के साथ होने वाली समस्याएं भी बढ गई है। उम्र के साथ बढने वाली डिजेनरेटिव रोगों का कोई इलाज नहीं है ऐसे में जरूरी है कि लोग ऐसे उपाय अपनाएं ताकि ये रोग देर से हो तथा कम तेजी से बढे। इसके लिए जरूरी है कि हम अपनी वर्तमान जीवन शैली में सुधार करें। शरीर के वजन को नियंत्रित रखें’ नियमित रूप से व्यायाम करें तथा कैल्शियम और विटामिन डी से भरपूर आहार का सेवन करें।

विशेषज्ञों ने कोविड महामारी के दौरान लोगों को खासतौर पर अधिक उम्र के लोगों को खास सावधानी रखने और जोडों एवं हडि्डयों की चोटों से बचे रहने की सलाह दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here