फरीदाबाद में मनोरंजन के साथ.साथ जन.कल्याण भी अपने हाथए कानूनी हक !

98

Faridabad Aone News/ Dinesh Bhardwaj : फरीदाबाद में मनोरंजन के साथ.साथ जन.कल्याण भी अपने हाथए कानूनी हक पाने को राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण के स्टाल स्टाल नम्बर 826 व 827 पर मिलाएं हाथ।

राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण दिल्ली के निर्देशन व हरियाणा राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण पंचकुला के तत्वावधान में हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी समाज के हित में मुफ्त कानूनी सेवाएं सम्बन्धी स्टाल अंतर्राष्ट्रीय सूरजकुण्ड हस्तशिल्प मेलाए फरीदाबाद हरियाणा में लगाई जा रही है।

जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण की सचिव एवं मुख्य न्यायिक दण्डाधिकारी डॉण् कविता कम्बोज ने बताया कि हालसा प्राधिकरण का उद्देश्य है न्याय सबके लिए उपलब्ध हो और कोई भी आर्थिक तंगी के कारण न्याय से वंचित ना रहे। आज समाज के हर जरूरतमंद की हक की बात करने वाला और हर जरूरतमंद को मुफ्त कानूनी सहायता प्रदान कराने में विधिक सेवाएं प्राधिकरण प्रयासरत हैं।

अंतराष्ट्रीय सूरजकुण्ड हस्तशिल्प मेलाएफरीदाबाद में स्टॉल नम्बर 826 व 827 पर प्राधिकरण के पैनल अधिवक्ताओं द्वारा मुफ्त में कानूनी सेवाएं प्रदान करने के साथ.साथ पहली बार मेले में अग्रणी बैक महाप्रबधंक द्वारा युवाओं के लिए कल्याणकारी योजनाओं व बैकिंग सम्बंधित जानकारी प्रदान की जाएगी। इसके अतिरिक्त कोई भी व्यक्ति जिसका न्यायालय में केस चल रहा है उसके स्टेटस की जानकारी भी मुहैया करवाई जाएगी। आरण्सेटीण्गु्रप द्वारा कौशल विकास के बारे मेंए अटल सेवा केन्द्र द्वारा दी जाने वाली विभिन्न प्रकार की सेवाएं व नेशनल ट्रस्ट द्वारा कमजोर वर्गो व विकलांगों को दी जाने वाली सुविधाएं भी मौके पर ही उपलब्ध करवाई जाएगी।

इसके अलावा सहगल फाउंडेशन ;एनण् जीण्ओण्द्ध जो कि किसी भी जरूरतमंद व आम नागरिक को उनके अधिकारोंए कर्तव्यों व कानूनी हकों तथा किसी भी पीडित व उनकी समस्याओं के निदान के लिए सम्पर्क सूत्रों के बारे में जागरूक करने के लिए सहयोग करेगी और बताएंगे कि कहाँ से और किस माध्यम से बेहतर न्याय प्राप्त हो सकता है। उक्त एनजीओ द्वारा सुशासन के साथ.साथ सामाजिक मुद्दो पर जो कानून से जुड़े है जैसे दहेज प्रथाए घरेलू हिंसाएबाल विवाहए बाल मजदूरीएकार्यस्थल पर महिलाओं के साथ अत्याचार आदि की सेवाएं उपलब्ध करवाई जाएगी।

अतरू संबंधित व्यक्ति उक्त स्टाल पर सेवाओं को लाभ लेने के लिए अपने सभी संबंधित दस्तावेज साथ लाए ताकि प्राधिकरण द्वारा दी जाने वाली सुविधाओं का मौके पर ही लाभ मिल सके।

इसके अलावा जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण पलवल द्वारा एक सोफ्टवेयर भी लांच किया जाएगाए जो नालसा ऑथोरिटी से लिंक होगाए जिसके माध्यम से मौके पर प्राप्त किसी भी प्रकार के मामले या शिकायत में चाहे दीवानी मामला होए चाहे वैवाहिक मामला हो या अन्य सम्बन्धीए जो कि करीब 15 तरह के मामलों मेंए जिसको स्टाल से किसी भी आवेदक द्वारा अपने या अपने किसी सम्बन्धी से जुड़े हुएए के द्वारा कम्प्यूटर को टच करते हीए सम्बन्धित मामला नालसा लिंक के माध्यम से सम्बन्धित जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण को कानूनी समाधान या मुफ्त कानूनी सेवाओं के लिए अग्रेसित हो जाएगाए जिस मामले में सम्बन्धित प्राधिकरण उस जरूरतमंद को उचित मुफ्त कानूनी सेवाएं उपलब्ध कराएगी। नालसा ऑथोरिटी के मार्गदर्शन में हरियाणा के अलावा राष्ट्र की कोई भी सम्बन्धित प्राधिकरण हो सकती है।

उन्होंने बताया कि उक्त स्टाल 826 व 827 के माध्यम से लोगों को मनोरंजन के अलावा उनकी जन सुविधाओं व कानूनी समस्याओं व परिवादों के समाधान के लिए मुफ्त कानूनी सहायता मौके पर ही प्रदान करवाने के लिए प्रयास करेगा । पैनल अधिवक्ताओं व पैराविधिक स्वयं सेवकों द्वारा लिखित दरखास्तए शिकायतें व फार्म भरवाने की प्रक्रियाओं सहित हर प्रकार से जागरूक भी किया जाएगा और हर जरूरतमंद को न्याय उपलब्ध होए इसलिए प्राधिकरण की कानूनी सेवाओं से हर आगंतुक को जोडऩे का प्रयास किया जाएगा। हर गरीब व जरूरतमंद को उनके हक दिलवाने का प्रयास किया जाएए और जागरूकता के साथ.साथ उन्हें उनका हक दिलवाया जाए।

जिससे हर आगंतुक प्राधिकरण की सेवाओं के बारे में जागरूक हो सके लेकिन हालसा प्राधिकरण पहली बार आगंतुकों के लिए मनोरंजन के साथ.साथ आगंतुकों के कल्याण के लिए भी पहल करेगा ताकि अंतर्राष्ट्रीय हस्त शिल्प मेले में भारत के हर राज्य से व कोने.कोने से आने वाले आगंतुकों को मनोरंजन के अलावा उनकी जन उपयोगी सुविधाओंए दीवानीए माल. दीवानी ध्राजस्व व प्रशासनिक मामलों से जुड़ी समस्याओं के समाधान हेतु उनके समाधान के साथ कल्याण के लिए भी पहल करेगा और मौके पर ही हक दिलवाने का प्रयास करेगा।

इसी कड़ी में प्राधिकरण द्वारा अंतराष्ट्रीय सूरजकुण्ड हस्त शिल्प मेले में समाज के हर जरूरतमंद के कल्याण हेतु ये एक सराहनीय कदम उठाया जा रहा है। मेले में लाखों लोग ध्आगंतुक अवश्य आते हैं और उनका उद्देश्य होता है कि मेले में मनोरंजन किया जाएए पहली बार उनको मनोरंजन के साथ.साथ उनके कल्याण हेतु मुफ्त कानूनी सहायता भी मौके पर ही प्रदान की जाएगी। कानूनी सहायता का केवल एक ही उद्देश्य होगा कि जरूरतमंद को उसका हक हर हाल में मिले।

प्राधिकरण समय . समय पर राष्ट्रीय कानूनी साक्षरता मिशन के अंतर्गत विभिन्न कानूनी विषयों पर कानूनी साक्षरता व जागरूकता कार्यक्रमों व शिविरों का आयोजन करते आ रहे हैं लेकिन आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में केवल जागरूकता जरूरतमंद के लिए नाकाफी हैए इसीलिए अब प्राधिकरण जागरूकता के साथ.साथ मौके पर ही उनके हक को प्रदान करवाने का प्रयास करेगा।

उन्होंने बताया कि चाहे बच्चों के भविष्य की बात होए चाहे बुजुर्गों के सम्मान या चाहे किसी दिव्यांगजन के स्वाभीमान की बात होए सभी के लिए सहारा बनने में प्राधिकरण प्रयासरत है। आज प्राधिकरण न्याय के साथ . साथ पीडितों को राहत राशि ध्मुआवजा प्रदान करने में भी कोई कसर नहीं छोड़ रहा है। समाज में सबको अपना हक मिलेए इसीलिए प्राधिकरण हर वर्ग को उनके मौलिक अधिकारों व मौलिक कर्तव्यों को भी निभाने के लिए प्रेरित करता आ रहा है।

उल्लेखनीय है कि गत वर्षों में प्राधिकरण के द्वारा अंतर्राष्ट्रीय सूरजकुण्ड हस्तशिल्प मेले में स्टाल पर आगंतुकों के लिए समाजिक कुरीतियों जैसे बाल श्रमए बाल विवाहए बाल अपराधए कन्या भ्रूण हत्याए लिंग जांचए दहेज प्रथा व दहेज हत्याए यातायात नियमों का उल्लंघनए जल . वायु प्रदूषणए आदि व प्राधिकरणों द्वारा चलाए जा रहे बच्चोंए बुजुर्गोंए महिलाओंए वरिष्ठ नागरिकोंए श्रमिकोंए गरीबी उन्मूलन व नशा उन्मूलनए एसिड पीडि़ता के कानूनी अधिकार सम्बन्धी नालसा योजनाओंए जागरूकता अभियानों व अन्य कानूनी विषयों के अलावा हरियाणा पीडि़ता मुआवजा योजना सहित प्राधिकरण की कानूनी सेवाओं से जुड़े कानूनी साक्षरता जागरूकता शिविरों के फोटोए पेंटिंगए पोस्टर व कानूनी साहित्य के माध्यम से एक प्रदर्शनी लगाकर आगंतुकों को प्रदर्शित किया जाता रहा है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Themetf