सुप्रीम कोर्ट के जजमेंट को हिंदी और अन्य भाषाओं मे अनुवाद करने पर हो रहा विचार

16

उत्तर प्रदेश- सुप्रीम कोर्ट के जजमेंट को अब अंग्रेजी से हिंदी में ट्रांसलेट किया जाएगा. इसके बाद इसे क्षेत्रीय भाषाओं में भी करने की कोशिश होगी. सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगाई ने आज पत्रकारों के साथ मीटिंग में बताया कि वे इस बात पर विचार कर रहे हैं कि विभिन्न राज्यों से आने वाले हजारों लोगों को इंग्लिश नहीं आती है. ऐसे में उन्हें सुप्रीम कोर्ट का अंग्रेजी आदेश व फैसला समझ में नहीं आता है, जबकि कई मामलों के फैसले बेहद गंभीर होते हैं. मुख्य न्यायधीश रंजन गोगोई ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में अब इन फैसलों का हिंदी में अनुवाद किए जाने पर विचार हो रहा है. उन्होंने कहा कि इसके अलावा प्रादेशिक भाषा में भी फैसले का अनुवाद किए जाने पर विचार हो रहा है.सीजेआई ने कहा कि 500 पन्नों जैसे बड़े जजमेंट को संक्षिप्त करके एक या दो पन्नों में करेंगे ताकि आम लोगों को समझ में आ जाए. 24 घंटे के भीतर सुप्रीम कोर्ट में चार जजों की नियुक्ति पर चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि इतिहास में ये पहली बार हुआ है कि सरकार को भेजी गई सुप्रीम कोर्ट कोलिजियम की सिफारिश के 48 घंटों के भीतर चार जजों की नियुक्ति हो गई

#Aonenewstv Editedby Pankaj kumar

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Themetf