लेखक रमनउन्नी को धमकी, 6 महीने में इस्लाम कबूलो नहीं तो काट देंगे हाथ पैर

240

तिरुवनंतपुरम: प्रख्‍यात मलयाली लेखक केपी रमनउन्नी को एक धमकी भरा गुमनाम खत मिला है. उसमें आरोप लगाया गया है कि उनके हालिया लेखों की वजह से मुस्लिम युवक भटक रहे हैं. उसमें चेतावनी देते हुए लिखा गया है कि वह अपनी हरकतों से बाज आएं और छह महीने के भीतर इस्‍लाम कबूल कर लें. ऐसा नहीं करने पर उन्हें धमकी दी गई है कि उनका दाहिना हाथ और बाएं पैर काट दिया जाएगा. रमनउन्नी को छह दिन पहले कोझिकोड स्थित उनके आवास पर यह खत भेजा गया था. केरल साहित्‍य अकादमी अवार्ड और वायलार अवॉर्ड से सम्‍मानित रमनउन्नी उपन्‍यासकार हैं और लघु कहानियां लिखते हैं. उनके पहले उपन्‍यास ‘सूफी परांजा कथा’ पर फिल्‍म भी बन चुकी है, जिसका तानाबाना एक मुस्लिम व्‍यक्ति और हिंदू महिला की प्रेम कथा के इर्द-गिर्द बुना गया है.

इस मामले में रनमउन्नी ने कहा कि वह नहीं जानते हैं कि उन्हें यह पत्र किसने भेजा है. रमनउन्नी का कहना है कि पहले तो उन्‍होंने इस खत को नजरअंदाज किया, लेकिन बाद में वरिष्‍ठ लेखकों की सलाह के बाद उन्‍होंने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई. पुलिस ने रमनउन्नी की शिकायत के आधार पर अपनी जांच शुरू कर दी है. समझा जा रहा है कि इसको मलप्‍पुरम जिले के मंजेरी से भेजा गया है. खत में यह भी लिखा गया है कि यदि वह नहीं माने, तो उनकी भी हालत प्रोफेसर टीजे जोसेफ की तरह कर दी जाएगी. गौरतलब है कि साल 2010 में प्रोफेसर जोसेफ का दायां हाथ एक कट्टरपंथी मुस्लिम संगठन से जुड़े लोगों ने काट दिया था. इस संगठन का आरोप था कि एक प्रश्‍नपत्र सेट करने के दौरान प्रोफेसर जोसेफ ने उनकी धार्मिक भावनाओं को आहत किया था.

#aone newstv[edited by डिम्पल शर्मा]

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Themetf