रामलीला मैदान पर अन्‍ना हजारे की एक बार हूंकार, अनशन शुरू

170

नई दिल्ली [Edited By Parag Jain] छह साल बाद एक बार फिर दिल्‍ली का रामलीला मैदान समाजसेवी अन्ना हजारे का कुरुक्षेत्र बनने जा रहा है. अपनी तमाम मांगों को लेकर उन्‍होंने केंद्र में सत्तासीन भारतीय जनता पार्टी सरकार को खबरदार किया है. इस महाआंदोलन की शुरुआत करने से पहले  सुबह वह राजघाट स्थित महात्मा गांधी की समाधि स्थल पर गए और वहां पर उन्होंने बापू को नमन किया. इसके बाद अन्‍ना सीधे रामलीला मैदान पहुंचे  और अपने हजारों समर्थकों की मौजदूगी में मंच पर सबसे पहले तिरंगा लहराया. जानकारी मिली है कि सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज एवं कर्नाटक के पूर्व लोकायुक्त एन संतोष हेगड़े आंदोलन में शामिल होने रामलीला मैदान पहुंचे हैं.अन्‍ना से हड़ताल से पहले कहा कि मैंने सरकार को 42 बार पत्र लिखा लेकिन सरकार ने कोई जवाब नहीं दिया और अंत में मुझे अनशन पर बैठना पड़ रहा है.

इस दौरान उन्होंने कहा कि अंग्रेज चले गए, लेकिन लोकतंत्र नहीं आया. साथ ही कहा कि सिर्फ गोरे गए और काले आ गए. अपनी मांगों के संदर्भ में अन्ना हजारे ने कहा कि सिर्फ जुबानी आश्वासन पर अनशन नहीं रुकेगा, बल्कि पुख्ता निर्णय लेना पड़ेगा. उन्होंने कहा कि चर्चा करने के लिए अनुमति देंगे. केंद्र को घेरते हुए कहा कि आंदोलनकारियों को यहां आने से सरकार रोक रही है. क्या यही लोकतंत्र है.

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Themetf