भारत ही नहीं, यहां भी हैं एक दशरथ मांझी, जानें मोहब्बत के लिये किया कौन सा महान काम

231

इश्क और मोहब्बत की कहानियां तो आपने बहुत सी सुनी होंगी चाहे लैला-मजनू की बात कर लें चाहे हीर-रांझा, सोनी-महिवाल या शिरी फरहाद की प्रेम कहानी। इनका प्यार दुनिया के लिये मोहब्बत की मिसाल बना और उनकी कहानियां आज भी युवा दिलों में जिंदा हैं।

कुछ ऐसी ही मिसाल आने वाली पीढ़ियों के लिए चीन के इस जोड़े ने भी छोड़ी है, जिनकी प्रेम कहानी सुनकर आप हैरत में पड़ जाएंगे। ये एक ऐसी कहानी है जिसमें उनका प्यार आज उनके न होने पर भी जिंदा है। 1956 में जू चाओकिंग ने अपने पहले पति को खो दिया था और चार बच्चों के साथ गरीबी की मार झेल रही थी।

लियू गुओजियाद जू से उम्र में दस साल छोटा होने के बावजूद जू की हर संभव मदद करता था और उसके बच्चों का भी ख्याल रखने लगा। बस गांव वालों को यह रिश्ता रास नहीं आया। उन्हें इस रिश्ते से ऐतराज था। गांववाले एक विधवा को घर बसाते नहीं देख सकते थे।

बेमतलब की बातें लोगों के बीच होने लगी तो उन्होंने सबसे दूर जाकर बसने का फैसला किया। उन्होंने एक पहाड़ पर गुफा को ही घर बना लिया। भले ही वहां कुछ सुविधा नहीं थी, लेकिन प्यार भरपूर था। हैरानी की बात यह थी कि जू के पहले पति की मौत होने से पहले से लियू उसे चाहता था।

#Aonenewstv.com : Sachin

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Themetf