गर्भवती महिलाएं न करें पपीते का सेवन, होते हैं ये हो सकते है नुकसान

137

नई दिल्ली- पपीता खाने से शरीर को कई फायदे तो होते हैं लेकिन ज्यादा पपीता खाने के कुछ नुकसान भी होते हैं. आम लोगों के बजाय प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए पपीते से काफी परेशानी हो सकती है. वहीं पपीते से त्वचा पर भी काफी नकारात्मक असर देखने को मिलता है. सर्जरी के समय लोगों को पपीता नहीं खाना चाहिए क्योंकि उससे घाव जल्दी नहीं सुखते हैं. पपीते के ज्यादा सेवन करने से पीलिया और पथरी की समस्या से भी जूझना पड़ सकता है.

पपीता का सेवन करना बल्ड प्रेशर की बीमारी वाले लोगों के लिए नुकसानदायक साबित होता है. जो लोग बल्ड प्रेशर की दवाई ले रहे हैं उनके लिए पपीता खाना खतरनाक हो सकता है.

अधिक मात्रा में पपीता खाना शरीर के लिए लाभदायक नहीं है. पपीता में बीटा कैरोटीन मौजूद होता है. जिसके कारण स्किन पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है. इससे आंखों, तलवों और हथेलियों का रंग पीला भी हो सकता है.

पपीते में लेटेक्स पाया जाता है जिसके कारण गर्भवती महिलाओं के लिए पपीता का सेवन करना काफी हानिकारक साबित होता है. पपीता बहुत गर्म होता है. वहीं इसमें ऐसे तत्व भी पाए जाते हैं जिनसे महिलाओं का गर्भपात भी हो सकता है. प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए पपीते का सेवन करना उनके और उनके बच्चों के लिए बहुत ही खतरनाक साबित हो सकता है.

स्तनपान के समय

महिलाएं जितने सालों तक बच्चों को स्तनपान कराती है, उस वक्त तक महिलाओं को पपीता नहीं खाना चाहिए. इसके अलावा 1 साल तक छोटे बच्चों को भी पपीता नहीं खिलाया जाना चाहिए.

पपीता का ज्यादा सेवन करने से कई समस्याओं में से एक कब्ज की समस्या से भी गुजरना पड़ सकता है. अधिक पपीता खाने से इसके गलत प्रभाव भी देखे जा सकते हैं.

दस्त से परेशान लोगों को पपीते का सेवन नहीं करना चाहिए. इसके अलावा जो व्यक्ति अपना खून पतला करने की दवाई ले रहे हैं उन्हें भी पपीते का सेवन नहीं करना चाहिए.

#Aonenewstv. Edited by. Sakshi Verma

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Themetf