अब आया असली चैलेंज, फार्मिंग चैलेंज को लेकर किसानी कर रहे हैं गोवा के भगत सिंह नेता

14

मुबंई: अभी कुछ दिनों पहले गोवा के कृषि मंत्री ने किसानों को बेहतर खेती के लिए मंत्रों का उच्चारण करने की सलाह दी थी, जिसपर उनकी काफी आलोचना हुई थी. लेकिन अब उनसे पद में काफी छोटे एक युवा सरपंच ने खेती को बढ़ावा देने और किसानों की समस्या समझने के लिए एक काबिलेतारीफ तरीका निकाला है। एक्वेम बैक्सो के 25 साल के सरपंच सिद्धेश भगत सिंह का फार्मिंग चैलेंज कई लोगों के सामने चुनौती पेश कर रहा है. भगत ने गोवा के विधायकों को फार्मिंग चैलेंज दिया है. उन्होंने विधायकों से किसानों की समस्या समझने के लिए खेतों में उतरकर उनके साथ काम करने का चैलेंज दिया है. इसके बाद कई विधायक ऐसे हैं भी, जिन्होंने ये चैलेंज स्वीकार किया है।

भगत सरपंच चुने जाने से पहले एक्टिविस्ट थे. उन्होंने कहा कि ‘दूसरे राज्यों में किसान संसद और विधानसभाओं की और मार्च करते हैं. चलिए गोवा में विधानसभा को खेतों की मार्च कराया जाए.’

भगत ने 27 जून को फेसबुक पर लिखा था कि ‘किसानी एसी कमरों में बैठकर नहीं खेतों में जाकर ही समझ आ सकती है. मैंने किसानों से मिलकर उनकी कुछ समस्याओं पर बात की है और मैं ये समस्या कृषि मंत्री के टेबल तक ले जाऊंगा. मुझे उम्मीद है कि वो इस पर जरूर काम करेंगे.’ उन्होंने कहा कि हम साथ मिलकर हरित क्रांति ला सकते हैं. मैं विधायकों, मंत्रियों और अधिकारियों से अपील करता हूं कि वो अपने विधानसभा क्षेत्रों में खेतों में जाएं. भगत चाहते हैं कि सरकार खेती को बढ़ावा दे. उन्होंने इस चैलेंज के लिए कांग्रेस विधायक एलेक्सो रेजिनाल्डो लॉरेन्को को चुनौती दी कि वो ये चैलेंज स्वीकारे और अपनी फोटोज सोशल मीडिया पर पोस्ट करें.

#aonenewstv

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Themetf